November 27, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

तमिलनाडु में 13 नवंबर तक जारी रहेगी भारी बारिश, यहाँ जानिए मौसम की मार झेल रहे राज्य की पूरी कहानी

चेन्नई और आसपास के इलाकों में मंगलवार को भी भारी बारिश जारी रही, जिससे कई जगहों पर जलभराव और यातायात बाधित हो गया।

 

Reuters

 

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने बताया है कि 13 नवंबर तक इस क्षेत्र में ‘हैवी’ से ‘वेरी हैवी’ वर्षा जारी रहेगी, जिसकी वजह से निचले इलाकों में रहने वालों के लिए अलर्ट जारी किया गया है।

 

10 बिंदुओं में जानिए मौसम की मार की पूरी कहानी

 

1. तमिलनाडु में अब तक राज्यभर में बारिश से जुड़ी अलग-अलग घटनाओं में पांच लोगों की मौत हो चुकी है। लगातार बारिश के कारण कई घरों को भी नुक़सान पहुंचा है, जिसके कारण चेन्नई और अन्य ज़िलों के आसपास के इलाकों में पानी जमा हो गया है।

2. राज्य सरकार ने समूचे राज्य में 48 राहत शिविर बनाए हैं, जिसमें 1,100 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। चेन्नई में 24 घंटे का कंट्रोल रूम भी बनाया गया है और राज्य सरकार द्वारा टोल फ्री नंबर – 1070 और 1077- भी जारी किए गए हैं।

3. 8 नवंबर की सुबह तक, पानी जमा होने के बाद निचले इलाकों के 889 निवासियों को सुरक्षित निकाल लिया गया और राहत केंद्रों में रखा गया। राज्य सरकार ने एक विज्ञप्ति में कहा कि उन्हें दिन में तीन बार भोजन दिया जा रहा है।

4. चेन्नई, तिरुवल्लूर, कांचीपुरम, चेंगलपेट्टू, विल्लीपुरम, मयिलादुदुरै, तिरुनेलवेली, थेनकासी, रामनाथपुरम, नागपट्टिनम, विरुधुनगर, कुड्डालोर, शिवगनागी और मदुरै में स्कूल और कॉलेज भी भारी बारिश के कारण बंद कर दिए गए हैं।

5. तमिलनाडु के अलावा, पुडुचेरी में भी भारी बारिश हुई है, जिससे कई घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं। प्रदेश सरकार ने स्कूलों और कॉलेजों में छुट्टी घोषित कर दी है और लोगों को घरों से बाहर न निकलने की सलाह दी है।

6. इस बीच, मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की है कि तमिलनाडु और पुडुचेरी में अगले तीन से चार दिनों तक भारी बारिश जारी रहेगी, खासकर चेन्नई, चेंगलपट्टू, तिरुवल्लूर, कांचीपुरम, विल्लुपुरम, नागपट्टिनम, कुड्डालोर, मायलादुथुराई, तिरुवरुर, तंजावुर, पुदुकोट्टई में और रामनाथपुरम शिवगंगई में

 

BBC

 

7. इसके लिए तमिलनाडु और पुडुचेरी में भारी वर्षा के लिए अक्टूबर से दिसंबर तक होने वाले पूर्वोत्तर मानसून को ज़िम्मेदार ठहराया जा रहा है। हालांकि, इस साल बंगाल की खाड़ी और उससे सटे दक्षिण अंडमान सागर पर बने साइक्लोनिक सर्कल के कारण बारिश की तीव्रता बढ़ गई है।

8. आईएमडी ने कहा है कि जल्द ही बंगाल की खाड़ी और पड़ोस के दक्षिण-पूर्व में लो प्रेशर एरिया बनेगा और संभवतः पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ेगा और 11 नवंबर की सुबह तक उत्तरी तमिलनाडु तट के पास पहुंच जाएगा।

9. 8 नवंबर को पूर्व-मध्य अरब सागर के ऊपर तेज़ मौसम (50-60 किमी प्रति घंटे तक पहुंचने की गति); 07 को महाराष्ट्र गोवा-कर्नाटक तटों के साथ-साथ 40-50 किमी प्रति घंटे तक पहुंचने वाली हवा की गति; 9 नवंबर को मध्य और उससे सटे पश्चिम-मध्य अरब सागर के ऊपर है। इन हालातों में आईएमडी ने एक ट्वीट कर कहा कि मछुआरों को इन क्षेत्रों में न जाने की सलाह दी जाती है।

10. इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन से बात की और उन्हें केंद्र की ओर से हर संभव मदद का आश्वासन दिया। उन्होंने ट्वीट कर बताया, “तमिलनाडु के मुख्यमंत्री स्टालिन से बात की और राज्य के कुछ हिस्सों में भारी बारिश के मद्देनज़र स्थिति पर चर्चा की। बचाव और राहत कार्यों में केंद्र से हर संभव सहायता का आश्वासन दिया। मैं सभी की भलाई और सुरक्षा के लिए प्रार्थना करता हूं।”

Translate »