November 27, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

बिल्डर ने रातों-रात काटा बिजली, बिल्डर की मनमानी से परेशान पंचशील ग्रीन्स वन के लोगों ने डीएम ऑफिस का किया घेराव।

   जरा सोचिए कि आप अपनी मेहनत की कमाई से फ्लैट खरीदें और फिर उसी फ्लैट के बिल्डर और अथॉरिटी आपको मिलकर अलग-अलग तरीकों से प्रताड़ित करें और आपके विभिन्न क्रियाकलापों में बाधा बनकर सामने आए तो आपको महसूस होने लगेगा कि कहीं हमने घर खरीद कर गलती तो नहीं कर दी।

दरअसल, उत्तर प्रदेश के दादरी विधानसभा क्षेत्र में ग्रेटर नोएडा वेस्ट के पंचशील ग्रीन्स वन के फ्लैट में रहने वाले लोगों के साथ भी कुछ ऐसे ही समस्याएं उत्पन्न हुई है। कल यानी कि 13 नवंबर को अचानक से बिजली काट दिए जाने के कारण फ्लैट में रहने वाले लोग परेशान हो गए। जब उन्होंने इसकी जांच की तो पता चला कि बिल्डर के द्वारा यह बिजली काट दी गई है क्योंकि फ्लैट में रहने वाले लोग मेंटेनेंस का खर्च नहीं दे रहे हैं। जिसमें सार्वजनिक मूलभूत सुविधाओं को रखा गया है, जैसे कि सोसाइटी की सुरक्षा सफाई और लाइटिंग की व्यवस्था। वहीं दूसरी तरफ घर खरीदारों का यह आरोप है कि मेंटेनेंस का पैसा हमने इसलिए जमा नहीं किया क्योंकि बिल्डर की ओर से किसी भी तरह से मूलभूत सुविधाएं नहीं दी जा रही है।ना ही सोसाइटी में सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम है, कई जगह की लाइट्स भी नहीं जलती है, जिसके कारण सोसाइटी रात अंधेरों में असुरक्षित महसूस करता है। साथ ही कई दफा कई दिनों तक लिफ्ट बंद कर दी जाती है। फ्लैट धारकों की ओर से सोसाइटी के स्टाफ द्वारा अक्सर चोरी करने का भी आरोप लगाया गया।


दोनों तरफ से इन तमाम आरोप और प्रत्यारोपों को आपने जाना। इसके बाद 13 नवंबर को ही फ्लैट के धारकों ने चेरी काउंटी पुलिस थाने के पास जमकर बवाल काटा और सुबह से शाम तक अपनी मांग को लेकर अड़े रहे, लेकिन शाम तक समाधान ना निकलने के बाद वह फिर से अपने घर अंधेरे में रात बिताने के लिए मजबूर हो गए।
इसके बाद मिली जानकारी के अनुसार,आज सुबह यानी कि 14 नवंबर को ठीक 11 बजे सभी पीड़ित फ्लैट धारक डीएम ऑफिस का घेराव करने और डीएम से अपनी समस्याओं के समाधान के लिए पहुंच गए। नागरिकों का कहना है कि माननीय न्यायालय सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार सोसायटी के मेंटेनेंस को इलैक्ट्रिक रिचार्ज से नहीं जोड़ा जा सकता। वहीं बिल्डर ने मेंटेनेंस न देने के कारण इलेक्ट्रिसिटी का रिचार्ज करने से मना कर दिया है।सोसायटी के अधिकांश नागरिकों ने खराब सर्विस के कारण मेंटेनेस देने से मना कर दिया है।


आज लगभग 200 फ्लैट धारकों ने वापस से बिल्डर को नियमों का पालन करने का निवेदन किया, लेकिन बिल्डर टस से मस नहीं हुआ।

समाजवादी पार्टी के नेता राजकुमार भाटी लोगों को दिलाया भरोसा

समाजवादी पार्टी के नेता राजकुमार भाटी ने भी लोगों का साथ दिया।इसके बाद लोगों के शिष्टमंडल ने डीएम सुहास LY से मुलाकात कर अपनी समस्या बताई। डीएम महोदय ने उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया। उन्होंने बोला की अंधेरा नहीं होने दिया जाएगा और अधिकारियों को उचित निर्देश दे दिए।


अब देखने वाली बात यह है कि बिल्डर इन आदेशों को कितना मानता है और कितने दिनों तक फ्लैट धारकों को इसी तरह अंधेरी रात में बिना बिजली के रात गुजारनी पड़ेगी।
लोगों को डीएम के आश्वासन पर भी संशय इसीलिए है क्योंकि इससे पहले भी ब्रॉडबैंड मामले में लोगों ने डीएम से शिकायत की थी और शिकायत के बाद डीएम ने मामले के समाधान का आश्वासन दिया था लेकिन इसी बिल्डर ने अपने अन्य प्रोजेक्ट ग्रीन्स 2 में ब्रॉडबैंड के मामले में किसी भी आदेश को मानने से मना कर दिया था।

पीड़ित फ्लैट वालों के साथ खड़े दिखे मनवीर भाटी


वहीं दूसरी तरफ चेरी काउंटी पुलिस स्टेशन और डीएम ऑफिस में बीएसपी नेता और उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के MLA प्रत्याशी मनवीर भाटी लोगों के साथ खड़े दिखते नजर आए। मनवीर भाटी ने आज फिर लोगों के साथ DM से मुलाकात कर नागरिकों को NPCL का कनेक्शन दिलवा कर बिल्डर के आतंक से मुक्ति दिलवाने का निवेदन किया।

Translate »