September 25, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

नोएडा के 6 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड करवाने वाला युवक निकला सबसे बड़ा फ्रॉड, इस मामले में पहले ही जा चुका है जेल

गौतम बुद्ध नगर के पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने मंगलवार को नोएडा साइबर थाने में तैनात छह पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया था। जिसमें एक सब इंस्पेक्टर और 5 कॉन्स्टेबल है। इन पुलिसकर्मियों पर आरोप है कि इन्होंने एक फाइनेंसियल कंपनी से 5 लाख रुपए फिरौती की मांग की थी। रुपए नहीं देने पर कंपनी के तीन कर्मचारियों को जेल भेजने की धमकी दी थी। इस मामले में पुलिस ने जांच पड़ताल करने के बाद बड़ी जानकारी हाथ लगी है।

नोएडा सेंट्रल डीसीपी हरीश चंद्र ने बताया कि, नोएडा के सेक्टर-65 में स्थित एक कंपनी के मालिक माजू चौहान ने पुलिस को शिकायत दी कि नोएडा साइबर थाने में तैनात छह पुलिसकर्मी उनसे फिरौती मांग रहे हैं। इस मामले में पुलिस ने जांच करते हुए फिरौती मांगने वाले छह पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है। उन्होंने बताया कि, यह जांच का विषय था कि आखिर किस मुद्दे पर माजू चौहान से पुलिस फिरौती मांग रही थी। इस मामले में पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह के आदेश पर काफी गंभीरता से जांच की गई। जिसके बाद पुलिस को गंभीर और बड़ी जानकारी हाथ लगी है।

उन्होंने बताया कि, मूल रूप से मेरठ का रहने वाला माजू चौहान नोएडा के सेक्टर-65 में एक फर्जी कंपनी चलाता था। माजू चौहान का नाम वरुण चौहान और देवेश चौहान भी था। यह अपने नाम बदल बदल कर लोगों के साथ ठगी करता था। यह अभी तक 20 से ज्यादा लोगों के साथ ठगी कर चुका है। इतना ही नहीं माजू चौहान पहले भी फर्जीवाड़े के चक्कर में जेल जा चुका है। इस मामले में नोएडा पुलिस ने 11 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। बाकी की तलाश पुलिस कर रही है।

Translate »