Monday, September 26, 2022

MOTHER LAND POST

MOTHERLANDPOST

गौतम बुद्ध नगर के लाखों निवासी परेशान, फ्लैट की रजिस्ट्री करवाने के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे, सोशल मीडिया पर भी छेड़ा अभियान 

by MotherlandPost Desk
0 comment

गौतम बुद्ध नगर में इस समय हजारों सोसाइटी हैं। जिनमें लाखों लोग निवास करते हैं। लेकिन इन लाखों लोगों में से अधिकतर निवासी काफी परेशान हैं।

वह अपनी परेशानी का समाधान करवाने के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं। लेकिन अभी तक उनकी ना तो कोई सुनवाई हुई है और ना ही उनकी को सुनने वाला है। अब इन फ्लैट खरीदारों ने और फ्लैट में रहने वाले निवासियों ने सोशल मीडिया पर अभियान चलाना शुरु किया है। इसके अलावा अथॉरिटी के अधिकारियों के साथ भी बैठक करना शुरू कर दिया है।

दरअसल, मामला यह है कि फ्लैट खरीदारों ने काफी समय पहले अपने फ्लैट के सारी रकम चुका दी। करीब 5 से 6 साल पहले फ्लैट की सारी कीमत चुका दी है। लेकिन फिर भी आज तक उनके फ्लैट की रजिस्ट्री नहीं हुई है। जिसकी वजह से फ्लैट खरीदारों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। नोएडा के सेक्टर-78 में स्थित सनशाइन सोसायटी के निवासियों ने प्राधिकरण के अधिकारियों के साथ बैठक की।

फ्लैट निवासियों ने नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों को अवगत कराया कि, उन्होंने करीब 7 साल पहले ही फ्लैट की सारी कीमत चुका दी। उसके बाद भी उनके फ्लैट की आज तक रजिस्ट्री नहीं हुई है। यह हाल एक या दो सोसाइटी का नहीं बल्कि सैकड़ों सोसाइटी का है। निवासी लगातार बिल्डर और प्राधिकरण से मांग करते-करते थक गए हैं। लेकिन किसी को कोई भी ऐसा नहीं पड़ रहा है।

यही हाल ग्रेटर नोएडा वेस्ट का है। ग्रेटर नोएडा वेस्ट में तो उससे भी ज्यादा बुरा हाल है। एक तो ग्रेटर नोएडा वेस्ट में फ्लैट के रजिस्ट्री नहीं हुई है। दूसरी ओर बिल्डर मनमानी कर रहा है। ग्रेटर नोएडा वेस्ट में स्थित सुपरटेक इको विलेज एक, दो और तीन सोसायटी के निवासी बिल्डर की मनमानी से परेशान हो चुके हैं। इसके बाद उन्होंने ट्विटर पर अभियान शुरू कर दिया है।

निवासियों का कहना है कि, जब तक ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण इस मामले में दखल नहीं देगा, तब तक बिल्डर उनके फ्लैट की रजिस्ट्री नहीं करेगा। प्राधिकरण का इस मामले में कहना है कि, सुपरटेक बिल्डर पर अभी 500 करोड़ रुपए बकाया है। लेकिन निवासियों का कहना है कि, उन्होंने अपना सारा पैसा बिल्डर को दे दिया है अब प्राधिकरण की जिम्मेदारी है कि वह अपना पैसा जल्द से जल्द ले। इसमें निवासियों का क्या दोष है।

About Post Author