November 27, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

टाइग्रे लड़ाके कर रहे हैं अमहारा की महिलाओं के साथ गैंग रेप, वॉर क्राइम का शिकार होतीं ये औरतें

अधिकार समूह एमनेस्टी इंटरनेशनल ने बुधवार को कहा कि इथियोपिया के टाइग्रे क्षेत्र के लड़ाकों ने पड़ोसी अमहारा क्षेत्र में महिलाओं के साथ गैंग रेप किया।

 

Tigrayan women/Reuters

 

एमनेस्टी की रिपोर्ट ये दिखती है कि केंद्र सरकार और टिग्रेयन बलों के बीच साल भर से चल रहे संघर्ष हर तरफ़ से गाली-गलौज के आरोपों से भरा रहा है।

ग़ौरतलब है कि यूनाइटेड नेशन्स ऐड प्रमुख ने कहा है कि यौन हिंसा को युद्ध के हथियार के रूप में इस्तेमाल किया गया है।

टाइग्रे पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट (टीपीएलएफ़) के प्रवक्ता गेटाचेव रेडा ने कहा कि उन्होंने अभी तक एमनेस्टी की रिपोर्ट नहीं पढ़ी है, लेकिन समाचार एजेंसी रॉयटर्स से कहा, “हम इस तरह के आरोपों को बहुत गंभीरता से लेते हैं और हम एक स्वतंत्र जांच करने के लिए तैयार हैं।”

जब युद्ध छिड़ा तो सरकारी सैनिकों का समर्थन करने के लिए क्षेत्रीय अम्हारा बल नवंबर में टाइग्रे में दाखिल हुए। अगर टाइग्रेन सेनानियों की बात करें तो वे जुलाई में इथियोपिया के सबसे उत्तरी क्षेत्र टाइग्रे में ज़्यादातर हिस्से पर नियंत्रण हासिल करने के बाद अमहारा में दाखिल हुए थे।

 

पीड़ितों की आपबीती और विफल होती नैतिकता

रिपोर्ट में कहा गया है कि निफ़ास मेवचा के अमहारा शहर में सोलह महिलाओं ने एमनेस्टी को बताया कि टीपीएलएफ़ से जुड़े लड़ाकों ने उनके साथ बलात्कार किया।

एमनेस्टी के महासचिव एग्नेस कैलामार्ड ने कहा, “हमने जीवित बचे लोगों की गवाही में टीपीएलएफ़ सेनानियों द्वारा किए गए घिनौने अपराध के बारे में जो कुछ भी सुना है वो न केवल के वॉर क्राइम है बल्कि मानवता के ख़िलाफ़ बड़ा अपराध है।”

एक 45 वर्षीय महिला ने एमनेस्टी को बताया कि टीपीएलएफ़ के चार लड़ाके उसके घर कॉफी लेने आए थे। उन्होंने बताया, “मुझे उनके इरादों पर शक़ था, और इसलिए मैंने अपनी बेटियों को वहाँ से भेज दिया।” उन्होंने कहा कि ऐसा करने पर उन लड़कों में उनका जातीय अपमान किया और अपने बच्चों को वापस बुलाने के लिए कहा।

 

Tigrayan women/Courthouse News Service

 

उन्होंने कहा, “उनमें से एक ने दूसरों से कहा कि मेरा अपमान करना बंद करो।”
उन्होंने आगे जोड़ा, ‘वह हमारी माँ जैसी है; हमें उसे नुक़सान नहीं पहुंचाना है।”
एमनेस्टी ने लिखा, “उन्होंने मुझे माँ कहने वाले लड़ाके को घर के बाहर जाने को मजबूर किया और उनमें से तीन मेरे घर वापस आ गए। फिर उन्होंने बारी-बारी से मेरा रेप किया।”

निफ़ास मेवचा के महिला और बच्चों के मामलों के कार्यालय के प्रमुख अम्सल आलमरू ने रॉयटर्स को बताया कि 74 महिलाओं ने कहा कि एमनेस्टी रिपोर्ट द्वारा कवर की गई नौ दिनों के दौरान उनके साथ बलात्कार किया गया है।

अम्सल ने कहा कि इस घटना के ऐसे भी पीड़ित हो सकते हैं जो शर्म और डर के चलते सामने नहीं आ रहे हैं।

 

टाइग्रे के लिए स्वास्थ्य सेवाएँ भी रोक रहा है इथियोपिया

रिपोर्ट में कहा गया है कि एमनेस्टी की केवल दो महिलाओं ने बुनियादी इलाज की मांग की, हालांकि टिग्रेयन बलों ने स्वास्थ्य सुविधाओं को भी लूट लिया है।

ह्यूमन राइट्स वॉच ने कहा कि टाइग्रे में बलात्कार पीड़ितों को इलाज कराने में बाधाओं का सामना करना पड़ता है। राइट्स ग्रुप ने बुधवार को जारी एक रिपोर्ट में कहा, “इथियोपियाई सरकार द्वारा सहायता और आवश्यक सेवाओं को रोकना… यौन हिंसा से बचे लोगों को बलात्कार के बाद आवश्यक देखभाल हासिल करने से रोक रहा है।”

बता दें कि संयुक्त राष्ट्र ने पिछले हफ़्ते कहा था कि टाइग्रे में लगभग 80 फ़ीसद ज़रूरी दवाएं ख़त्म हो गई हैं और ज़्यादातर स्वास्थ्य सुविधाएं काम नहीं कर रही हैं। इन सबके बीच इथियोपिया ने टाइग्रे के लिए सहायता रोकने की बात से इनकार कर दिया है।

Translate »