UNSC(संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद) में भारत ने रूस के खिलाफ लाए गए निंदा प्रस्ताव में वोटिंग पर बनाया दूरी। जानिए बताया बडी वजह

by MotherlandPost Desk
0 comment

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में यूक्रेन पर हमला करने के लिए रूस के खिलाफ एक निंदा प्रस्ताव लाया गया। रूस ने वीटो का इस्तेमाल कर इसे गिरा दिया। भारत ने वोटिंग से खुद को अलग रखा।भारत ने अभी भी शांति से बातचीत कर हल निकालने को कह रहा।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने परिषद में भारत के वोट की व्याख्या में कहा कि यूक्रेन में हाल के घटनाक्रम से भारत बहुत परेशान है। हम आग्रह करते हैं कि हिंसा और शत्रुता को तत्काल समाप्त करने के लिए सभी प्रयास किए जाएं।तिरुमूर्ति ने कहा कि चाहे इस समय कितना भी कठिन क्यों न लगे, लेकिन  मतभेदों और विवादों को निपटाने के लिए संवाद ही एकमात्र उपाय है। यह खेद का विषय है कि कूटनीति का मार्ग छोड़ दिया गया। हमें इस पर वापस लौटना चाहिए। इन सभी कारणों से भारत ने प्रस्ताव पर परहेज करने का विकल्प चुना है।

 

प्रस्ताव के पक्ष में 11 मत 

दरअसल, प्रस्ताव  के पक्ष में 11 मत मिले और भारत, चीन और संयुक्त अरब अमीरात सहित तीन मतों से परहेज किया गया। भारत ने इस दौरान सभी सदस्य देशों को मतभेदों और विवादों को सुलझाने के लिए बातचीत में शामिल होने की अपील की। भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को बताया कि उसने रूस की आक्रामकता के खिलाफ अमेरिका द्वारा प्रायोजित प्रस्ताव पर मतदान से परहेज किया था।

About Post Author