September 25, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

यूपी एसटीएफ की बड़ी कामयाबी, हजारों लोगों को करोड़ों का चूना लगाने वाली शातिर महिला गिरफ्तार, अब तक गैंग के कई सदस्य दबोचे

फर्जी ईकॉमर्स वेबसाइट बनाकर बैंकों से क्रेडिट और डेबिट कार्ड धारकों का डाटा प्राप्त कर धोखाधड़ी से करोड़ों रुपये की ठगी करने वाली एक महिला समेत दो लोगों को यूपी एसटीएफ ने आगरा से गिरफ्तार किया है। इस मामले में 26 जनवरी को एसटीएफ ने चार बदमाशों को फरीदाबाद से गिरफ्तार किए गए था। गिरफ्तार लोगों के पास से सात हजार ग्राहकों का डेटा और दो मोबाइल फोन आदि बरामद हुआ है।

पश्चिमी यूपी एसटीएफ के पुलिस अधीक्षक कुलदीप नारायण ने बताया कि, कुछ दिनों पहले एसटीएफ उत्तर प्रदेश को सूचना मिली रही थी कि, विभिन्न बैंकों के डेबिट और क्रेडिट कार्ड धारकों का डाटा प्राप्त कर, धोखाधड़ी से ग्राहकों के ओटीपी प्राप्त करके साइबर ठग करोड़ों रुपये की ठगी कर रहे हैं।

उन्होंने बताया कि आरोपियों के पास से एक लैपटॉप, 14 मोबाइल फोन, एक डायरी, एक स्कॉर्पियो कार, एक होंडा सिटी कार के अलावा 6,59,000 रुपये नगद बरामद किया गया है। इस गैंग को ग्राहकों का डेटा उपलब्ध कराने वाली महिला शिल्पी पत्नी दीपक मलिक और सुलेमान पुत्र मोहम्मद फारुख घटना के समय से फरार थे। इनकी गिरफ्तारी पर 25 हजार रुपए का इनाम घोषित था।

उन्होंने बताया कि मंगलवार को एसटीएफ ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है। इनके पास से करीब 7,000 ग्राहकों का डेटा बरामद हुआ है। इस गैंग में कुछ और लोग भी शामिल है, जिसकी पुलिस तलाश कर रही है। आरोपी सीधे लोगों को फोन करके अपने जाल में फंसा लेते थे। उनके डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड के ओटीपी नंबर हासिल कर उनके खाते से अपनी फर्जी ईकॉमर्स वेबसाइट से खरीददारी कर पैसे निकाल लेते हैं।

Translate »