February 28, 2021

Truth Always Wins!

कासगंज में विकास दुबे एनकाउंटर-2 : पुलिसकर्मी की हत्या करने वाला आरोपी मोती सिंह एनकाउंटर में ढेर

शनिवार की देर रात को कासगंज पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हुई है। इस मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने सिपाही की हत्या करने वाले आरोपी मोती सिंह को एनकाउंटर में ढेर कर दिया है। इस बदमाश ने 9 फरवरी की शाम को एक पोलिसकर्मी को पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया था। इसके अलावा एक दरोगा को भी अधमरा की हालत में छोड़ दिया था। शनिवार की देर रात को कासगंज पुलिस की 1 लाख रुपए के इनामी बदमाश मोती सिंह से मुठभेड़ हुई है। मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने मोती सिंह को एनकाउंटर में ढेर कर दिया है। बदमाश मोती सिंह के पास से दरोगा से छीनी हुई बंदूक भी बरामद हुई है।

कासगंज के पुलिस अधिकारी ने बताया कि, बीते दिनों 9 फरवरी 2019 की शाम को अवैध रूप से शराब बनाने की सूचना पर कासगंज की सिढ़पुरा थाना पुलिस इलाके के नगला धीमर गांव में अवैध शराब के ठिकानों पर छापा मारने पहुंची थी। उसी दौरान बदमाश मोती सिंह और उसके साथियों ने पुलिस पर जानलेवा हमला कर दिया था। बदमाशों ने पुलिस को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा था। बदमाशों ने सिपाही देवेंद्र और दरोगा अशोक कुमार को बुरी तरह से पीटा था। दोनों को पीटने के बाद बदमाशों ने अलग-अलग स्थानों पर फेंक दिया था। पुलिस ने काफी तलाश के बाद दोनों को बरामद किया और गंभीर हालत में अस्पताल में एडमिट करवाया। डॉक्टरों ने सिपाही देवेंद्र को मृत घोषित कर दिया था।


इस मामले के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्ती दिखाते हुए बदमाशों पर रासुका के तहत कार्रवाई करने का आदेश दिया था। योगी आदित्यनाथ की इस आदेश के बाद पुलिस भी अलर्ट हो गई थी। बीते दिनों पुलिस ने एनकाउंटर के दौरान सिपाही को मौत के घाट उतारने वाले शराब माफिया मोती के भाई एलकार सिंह को एनकाउंटर में ढेर कर दिया था। अब पुलिस ने 1 लाख रुपए के इनामी बदमाश मोती सिंह मार गिराया है।

Translate »