September 28, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

‘अफ़ग़ानिस्तान से सबक लेने के बाद भी नहीं सुधर रहे हैं पश्चिमी देश’ – व्लादिमीर पुतिन

शुक्रवार को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि पश्चिम के देश अफ़ग़ानिस्तान से सबक मिलने के बाद भी दूसरे देशों पर अपनी चीज़ें थोपने की नीति का पालन कर रहे हैं।

 

क्रेमलिन व्लादिमीर पुतिन/REUTERS

 

रूसी समाचार एजेंसी ताश के अनुसार पुतिन ने पश्चिम देशों पर अपने मूल्यों को थोपने का आरोप लगाते हुए कहा, “क्या ये पश्चिम के प्रभुत्व का अंत है? आख़िर मसला क्या है? मसला ये है कि ये सबक़ मौजूद हैं और इन्हें सही तरीक़े से समझकर नीति में बदलाव लाया जाना चाहिए।”

पुतिन ने आगे जोड़ा, “वे अफ़ग़ानिस्तान के बारे में कहते हैं कि हम वहाँ गए और हमने वहां कई ग़लतियां कीं। लेकिन वे लगातार दूसरे देशों के मामले में यही ग़लतियां करते आ रहे हैं। इन प्रतिबंधों का क्या अर्थ है? ये उसी नीति के तहत हो रहा है, जिसके तहत वे दूसरे देशों पर अपने मानक थोपते हैं।”

पुतिन ने कहा कि ये समस्या केवल उनके देश की नहीं है बल्कि एशिया-प्रशांत के सभी देशों के लिए ये एक चिंता का सबब है।

उन्होंने कहा, “ये बात लातिन अमेरिका समेत दुनिया के अन्य स्थानों पर भी लागू होती है। अगर कुछ व्यापक निष्कर्ष निकाले जाएं तो हम विश्व राजनीति में कुछ वैश्विक परिवर्तन देख सकते हैं। ये प्रभुत्व का अंत है या नहीं, ये सबसे पहले इस बात पर निर्भर करता है कि अंतरराष्ट्रीय पटल पर मौजूद देशों की आर्थिक क्षमता कितनी है।”

ग़ौरतलब है कि पुतिन ने इस बात पर भी ज़ोर दिया कि इस वक़्त मुख्य काम अपने देशों के विकास में सर्वोत्तम नतीजे हासिल करने के लिए सहयोगियों के साथ काम करते हुए प्रयासों को बढ़ाना है, ऐसा होने के बाद ही रूस की आवाज़ और महत्व बढ़ेगा, जिससे रूसी जनता और उसके साझेदारों को भी फ़ायदा होगा।

Translate »