September 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

Morning News Headlines : सुबह की सुर्खियों पर एक नज़र

1- वॉट्सऐप से भी बुक कर सकेंगे कोरोना वैक्सीनेशन का स्लॉट, लोगों को कोरोना का टीका लगवाने में आसानी हो, इसके लिए सरकार ने वॉट्सऐप पर भी वैक्सीनेशन स्लॉट बुकिंग की सुविधा दे दी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने बताया कि जो भी वैक्सीनेशन स्लॉट बुक करना चाहता है, उसे +9013151515 नंबर पर मैसेज करना होगा।। इसके बाद कुछ सेकेंड में एक OTP मिलेगा, जिसे वैरिफाई करने के बाद आगे के स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

2- पहली बार लेट हुई तेजस एक्सप्रेस, देश की पहली कॉरपोरेट ट्रेन तेजस दो साल में पहली बार लेट हो गई। 21 अगस्त को लखनऊ जंक्शन से ट्रेन सही वक्त पर निकली, लेकिन दिल्ली पहुंचते-पहुंचते ढाई घंटे लेट हो गई। इसकी वजह दिल्ली में बारिश के कारण सिग्नल फेल होना और यार्ड में पानी भरना बताया जा रहा है। IRCTC ने रिफंड के लिए क्लेम करने वाले 1,574 पैसेंजर्स को 250-250 रुपए का भुगतान किया है।

3-  जेवलिन थ्रोअर टेक चंद ध्वजवाहक रहे, टोक्यो में 16वें पैरालिंपिक गेम्स का आगाज हो चुका है। ओपनिंग सेरेमनी में भारत की ओर से जेवलिन थ्रोअर टेक चंद ध्वजवाहक रहे। टोक्यो 2 बार समर पैरालिंपिक गेम्स होस्ट करने वाला पहला शहर है। तालिबान के कब्जे के बाद अफगानिस्तान का कोई एथलीट इस बार पैरालिंपिक खेलों में नजर नहीं आएगा। अफगानिस्तान का समर्थन जताने के लिए ओपनिंग सेरेमनी में उसका झंडा लहराया गया।

4- उद्धव पर बयान देने वाले नारायण राणे को रात में बेल, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के खिलाफ बयानबाजी करने पर गिरफ्तार हुए केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को कोर्ट ने जमानत दे दी है। पुलिस ने दोपहर में उन्हें गिरफ्तार किया था। पुलिस ने गिरफ्तारी के बाद उन्हें रायगढ़ जिले के महाड दीवानी कोर्ट में पेश किया था। पुलिस ने कोर्ट से 7 दिन के लिए राणे की रिमांड मांगी थी। हालांकि, दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी।

Credit ANI

5- कोरोना संक्रमण किसी स्थानीय बीमारी की तरह हुआ, भारत में कोरोना संक्रमण स्थानीय बीमारी की तरह हो गया है। यहां इसके फैलने की दर कम या मध्यम है। यह कहना है WHO की चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन का। इसे वैज्ञानिक भाषा में बीमारी की एंडेमिक स्टेज कहा जाता है इसका मतलब है कि लोग वायरस के साथ जीना सीख लेते हैं। यह एपीडेमिक स्टेज से अलग होती है, जब संक्रमण पूरी आबादी को चपेट में ले लेता है।

Credit- WHO
Translate »