World Bank Cuts GDP: अब वर्ल्ड बैंक ने घटाया भारत के विकास दर का अनुमान, 2022-23 में 6.5% रह सकती है GDP

by Priya Pandey
0 comment

आरबीआई (RBI) के बाद अब वर्ल्ड बैंक ( World Bank) ने मौजूदा वित्त वर्ष 2022-23 में देश के आर्थिक विकास दर ( Economic Growth Rate) के अनुमान को घटा दिया है. वर्ल्ड बैंक के मुताबिक भारत का जीडीपी (GDP)  इस वर्ष 6.5 फीसदी रहने का अनुमान है. इससे पहले जून, 2022 में वर्ल्ड बैंक जीडीपी 7.5 फीसदी रहने का अनुमान जताया था. इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड ( IMF) और वर्ल्ड बैंक की बैठक से पहले साउथ एशिया इकॉनमिक फोकस रिपोर्ट जारी किया गया है जिसमें विश्व बैंक ने ये बातें कही है. हालांकि उसका मानना है कि बाकी दुनिया के देशों के मुकाबले भारत तेजी के साथ रिकवर कर रहा है. साउथ एशिया के लिए वर्ल्ड बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री Hans Timmer ने कहा कि कोविड के पहले फेज में भारी गिरावट के बाद ग्रोथ के मामले में दक्षिण एशिया के अन्य देशों के मुकाबले भारत ने बेहतर प्रदर्शन किया है.  उन्होंने कहा कि भारत पर कोई ज्यादा विदेशी कर्ज भी नहीं है जो सकारात्मक बात है. साथ ही उन्होंने कहा कि सर्विसेज सेक्टर खासतौर से सर्विस एक्सपोर्ट के क्षेत्र में भारत का प्रदर्शन बेहतर रहा है.

Hans Timmer के मुताबिक वैश्विक हालात का भारत समेत सभी देशों पर असर पड़ रहा है जिसके चलते ग्रोथ रेट के अनुमान को घटाना पड़ा है. उन्होंने कहा कि दुनियाभर की अर्थव्यवस्था में स्लोडाउन के संकेत दिखने लगे हैं. दूसरी छमाही दूसरे देशों के साथ भारत के लिए कमजोर रहने वाला है. उन्होंने कि इसके दो वजहें हैं. पहला हाई इनकम वाले देशों की अर्थव्यवस्था के विकास की रफ्तार धीमी पड़ रही है तो वहीं कड़े मौद्रिक नीति के चलते कर्ज महंगा होता जा रहा है जिससे विकासशील देशों से कैपिटल आउटफ्लो देखा जा रहा है.

इससे पहले आरबीआई ने भी 30 सितंबर, 2022 को मॉनिटरी पॉलिसी का जो एलान किया था उसमें 2022-23 में 7 फीसदी जीडीपी रहने का अनुमान जताया है.

 

About Post Author